गुरुवार, 13 जुलाई 2017

उनहों ने राजनीति शास्त्र पढ़ा मैं कृषि विज्ञान

उनहों ने राजनीति शास्त्र पढ़ा मैं कृषि विज्ञान
वो सरकार हो गए मैं कर्जदार हो गया -
उनहों ने किया भ्रष्टाचार मैंने वाणिज्य व्यापार
वो वो सेहतमंद हो गए मैं बीमार हो गया -
करते रहे सौदा वतन का वतनपरस्त बने रहे
मैं करके वतन की हिफाजत गद्दार हो गया -
डरे घड़ियाल भी उनके रोने से सैलाब आता है
उन्हे सर्दी लगी तीमारदार सारा अखबार हो गया -
उदय वीर सिंह



कोई टिप्पणी नहीं: